वंडो

क्रोनिक किडनी फेल्यर जो इलाजु

हिन भाग में क्रोनिक किडनी फेल्यर जो इलाजु जे बाबत जानकारी डि॒नियल आहे।

क्रोनिक किडनी फेल्यर जे इलाज जा मुख्य टे तरीक़ा आहिनि :

  • मेडीकल मेनेजमेन्ट
  • डायालिसिज़
  • ट्रान्सप्लान्टेशन

क्रोनिक किडनी फेल्यर में शुरुआअ में सभिनी मरीज़नि जो इलाजु मेडीकल मैनेजमेन्ट (दवाऊँ , खाधे में परहेज़​) द्वारां कयो वेंदो आहे ।

जड॒हिं किडनी वधीक ख़राब थिऐ, किडनीअ जे कमु करण जी शक्ति तमाम घटिजी वञे तड॒हिं डायालिसिज़ जी ज़रूरत पवंदी आहे ऐं उन्हनि मां केतिरनि मरीज़नि खे किडनी ट्रान्सप्लानेशन जहिड़ो ख़ास इलाजु कयो वेंदो आहे ।

मेडीकल मैनेजमेन्ट​

क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि लाइ मेडीकल मैनेजमेन्ट (दवा ऐं परहेज़​) छो ज़रूरी आहे ?

क्रोनिक किडनी फेल्यर दूर न थी सघे, अहिड़ी बीमारी आहे । किडनी वधीक ख़राब थिऐ तड॒हिं हयाती बचाइणि लाइ डायालिसिज़ ऐं किडनी ट्रान्सप्लानेशन लाज़िमी बणिजे थो । पर इहे इलाज तमामु महांगा हुअण सबबु 5-10 % मरीज़ मुश्किल सां इन जो लाभ वठी सघंदा आहिनि, बाक़ी बि॒या मरीज़ इलाजु न मिलण सबबु मरी वेंदा आहिनि, वरी इहो इलाज हर हंधि मैसर पिणु न आहे । त घटि खर्च ते ऐं पंहिंजे ई शहिर में मैसर हुजे अहिड़ी दवा , परहेज़ द्वारां इलाज जो सख़िताईअ सां अमलु करे किडनी खे वधीक थियण खां रोकण लाइ छो न कोशिश कजे ।

छा लाइ क्रोनिक किडनी फेल्यर जा घणा मरीज़ दवा ऐं परहेज़ द्वारां इलाज जो लाभ वठण में नाकामियाब रहनि था?

क्रोनिक किडनी फेल्यर जे शुरूआती तबक़े में सही इलाजु किडनीअ खे वधीक खराब थियण खां रोकण में असरदायक साबित थींदो आहे । बदक़िस्मतीअ सां क्रोनिक किडनी फेल्यर जूं शुरूआती निशानियूं तमाम घटि डि॒सण में ईंदियूं आहिनि, इन करे मरीज़ पंहिंजो रोज़ मड़ह जो कमु सविलाईअ सां करे सघंदा आहिनि ऐं डाक्टर द्वारां डि॒नल सूचिनाउनि ऐं ताकीज जे बावजूद पिणु बीमारीअ जी गंभीरता लाइ वक़्तसरि इलाज कराइण सां थींदड़ लाभ जी गा॒ल्हि मरीज़ ऐं संदसि कुटुंब जे मगज़ में न विहंदी आहे । इन करे अनियमित​, ग़लत ऐं अधुरे इलाज जे करे किडनी तकिड़ी ऐं वधीक ख़राब थी सघे थी ऐं निदान बइद थोड़े ई वक़्त में तबीयत वधीक बिगिड़ण सां डायालिसिज़ ऐं किडन ट्रान्सप्लानेशन जहिड़े महांगे इलाज जी ज़रूरत पवंदी आहे ऐं लापरवाहीअ जे करे केतिरा मरीज़ हयाती पिणु विञाऐ सघनि था ।

मेडीकल मैनेजमेन्ट जो मक़िसद छा आहे ?

क्रोनिक किडनी फेल्यर खे ठीक करे सघे, अहिड़ी का बि दवा मौजूद न आहे ऐं कहिड़ो बि इलाजु करणु जे बाव जूद पिणु हीअ बीमारी आहिस्ते-आहिस्ते वधंदी वेंदी आहे । दवा ऐं परहेज़ द्वारां इलाज जा मक़िसद हेठींअ रीत आहिनि :

  • बीमारी वधीक फहिलिजण जी रफितार घटाइणि ।
  • बीमारीअ जे कारणनि जो इलाजु ।
  • बीमारीअ जे करे मरीज़ खे थींदड़ तकिलीफ में राहत डि॒यणु ।
  • किडनीअ जी बाक़ी बचियल कमु करण जी शक्तिअ खे महिदूद रखी किडनीअ खे वधीक ख़राब थियण जी रफितार घटाइणु ऐं बी॒ का बि दिल जी बीमारी थियण जो इमिकान घटाइणु ॥
  • डायालिसिज़ या किडनी ट्रान्सप्ल्यानेशन जी जेकड॒हिं ज़रूरत पवे त मुमकिन हुजे ओतिर उन खे टाड़ण या देरि सां कराइणो पवे, अहिड़ी कोशिश करणु ।

क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि में मेडीकल मैनेनमेन्ट (दवा ऐं परहेज़​) द्वारां इलाज लाइ अहिमियत वारा नव सुझाव :

  • १. किडनी फेल्यर जे कारणनि जो इलाजु
  • हेठींअ रीति बीमारीअ जे योग्य इलाज ज़रीये क्रोनिक किडनी फेल्यर में किडनीअ खे वधीक ख़राब थियण खां रोके सघिजे थो ऐं किडनीअ जे कमु करण जी शक्तिअ खे टिकाअे सघिजे थो ।

    • डायाबिटीज़ ऐं रतु जो ऊचो दाबु॒ ।
    • पेशाब ऐं रतु जो ऊचो दाबु॒ ।
    • पेशाब में बीमारी या रंडक ।
    • ग्लोमेरूलोने, फाइटिस​, पथिरीअ लाइ ज़रूरी आपरेशन या दूरबीन द्वारां इलाजु ।
  • २. क्रोनिक किडनी फेल्यर जी रफितार घटाइण लाइ उपाव
    • रतु जे दाब॒ खे दवा ऐं परहेज़ द्वारां क़ाबूअ में रखणु (Ace inhibitor or angiotensin-II Receptor Blocker Therapy)।
    • खाधे में प्रोटीन जो अंदाज़ घटि वठणु ।
    • चरबी॒अ वारा खाधा न खाइणु ऐं रतु में फिकाइप जो मुनासिब इलाजु कराइणु ।
  • ३. किडनी फेल्यर करे पैदा थींदड़ मसइलनि जो इलाजु
    • सोजु॒ घटाइण लाइ पेशाब वधाइण जूं दवाऊँ (डाइयूरेटिक्स​) डि॒यणु ।
    • उल्टियूं - दिल कची थियणु - ऐसीडीटी लाइ ख़ास दवाउनि द्वारां इलाज करणु ।
    • हड॒नि जी तंदुरस्तीअ लाइ कैल्शियम ऐं विटामिन डी द्वारां इलाजु करे क्रोनिक किडनी फेल्यर जे करे थींदड़ हड॒निजी बीमारियुनि खे रोकणु ।
    • रतु जी फिकाइप (अेनिमिया) लाइ लोह अनासार​, विटामिन जूं दवाऊँ ऐं ख़ास क़िसिम जे अेरिथ्रोपोअेटिन जे इञेक्शन ज़रीये इलाजु करणु ।
    • दिल जे बि॒यनि बीमारियुनि खे रोकणु ऐं नेमाइतो दवा वठणु ।
  • ४. सुधारे सघिजनि अहिड़नि कारणनि जो इलाजु ।
  • जेके कारण सुधारे सघिजनि अहिड़ा हुजनि ऐं उन्हनि जी हाज़िरीअ में किडनी फेल्यर वधीक थींदी हुजे, अहिड़नि कारणनि जे सही इलाज सां किडनी फेल्यर सुधिरी सघे थो ऐं किडनीअ जी कमु करण जी शक्तिअ में वधीक सुधारे नज़र ईंदो आहे । रवाजी कारण हेठीअं रीति आहिनि

    • पाणीयठु (पाणीअ) जो अंदाज़ घटि क़ाइम रखणु ।
    • ग़ैर ज़रूरी सूर जूं ऐं बि॒यनि दवाउनि जो इस्तेमाल न कजे ।
    • बीमारीअ ऐं दिल जे बीमारीअ जो इलाजु ।
  • ५. किडनी फेल्यर जे करे पैदा थींदड़ मसइलनि जो इलाजु
  • किडनी फेल्यर जे करे पैदा थींदड़ मसइलनि जो वक़्ति सिर निदान ऐं सही इलाजु तमामु ज़रूरी हूंदो आहे । रवाजी तरह शरीर में पाणियठु (पाणीअ) जो अंदाज़ वधणु, रतु में पोटेशियम जो वधीक अंदाज़ (पोटेशियम 6.0 meq/l) खां वधीक ऐं क्रोनिक किडनी फेल्यर जे करे दिल​, मग़ज़ ऐं फिफिड़नि ते थींदड़ असर जो निदान ऐं सही इलाजु तमामु ज़रूरी बणिजे थो ।

  • ६. ज़िन्दगी जीअण जे ढंग में ज़रूरी तबिदीली ऐं रवाजी उपाव
  • किडनीअ खे वधीक नुक़िसान थियण खां रोकण लाइ हेठीअं रीति ख़बरदारी रखणु ज़रूरी आहे ।

    • बी॒ड़ी - सिगिरेट न छिकणु, तमाकु ऐं गुटिका न खाइणु ।
    • शरीर जो मुनासिब वज़न क़ाइम रखणु, नेमाइतो कसिरत करणु ऐं कम में रूधल (मश्ग़ूल​) रहणु ।
    • शराब न पीअणु ।
    • तंदुरस्त ख़ोराक (खाधो) नेमाइतो मुनासिब अंदाज़ में वठणु ऐं लूणु घटि वठणु ।
    • डाक्टर द्वारां डि॒नल दवाऊँ नेमाइतो (बाक़ाइदे) वठणु ऐं किडनी फेल्यर जी गंभीरता अनुसार दवाउनि में फ़ेरफ़ार करणु ।
    • डाक्टर खे नेमाइतो डे॒खारे चेक​-अप कराईंदो रहिजे ऐं दवा वठणु ।
  • ७. खाधे में परहेज़
  • किडनी फेल्यर जी हालत ऐं गंभीरता खे ध्यान में रखी खाधे में ज़रूरी परहेज़ करणु ।

    • सोडियम (लूणु) : रतु जे दाब॒ खे क़ाबूअ में रखण लाइ ऐं सोजु॒ घटाइण लाइ लूणु घटि (2 खां 3 ग्राम​) वठणु घुरिजे । खाधे में मथां लूणु न विझिजे ऐं वधीक लूण वारियूं शयूं जहिड़ोक पापड़​, आचार​, संभारो, वेफर​, वग़ैरह न खाइणु घुरजनि ।
    • पाणियठ जो अंदाज़ : पेशाब घटि थियण करे सोजु॒ ऐं दम जी तकिलीफ़ थी सघे थी । 24 कलाकनि में थींदड़ पेशाब जे कुल अंदाज़ खां 500 ml वधीक पाणियठ वठण सां सोजु॒ खे घटाअे सघिजे थो । मुख़ितसिर में चइजे त सोजु॒ हुजे अहिड़े हरहिक मरीज़ खे पाणियठु घटि वठणु तमामु ज़रूरी आहे ।
    • पोटेशियम : किडनी फेल्यर जे मरीज़नि खे पोटेशियम वारा खाधा जहिड़ोक फल​, सुका मेवा ऐं नारेल जो पाणी वगै़रह घटि वठण जी सलाह डि॒नी वञे थी । पोटेशियम जो वधीक अंदाज़ दिल ते गंभीर ऐं मौतिमार असरि करे सघे थो ।
    • प्रोटीन : किडनी फेल्यर जे मरीज़नि खे वधीक प्रोटीन वारो खाधो न वठण जी सलाह डी॒नी वेंदी आहे । जेतोणीक शाकाहारी मरीज़नि जे खाधे में प्रोटीन जे अंदाज़ में को वडो॒ फेरिफार करण जी ज़रूरत न पवंदी आहे । हलिके क़िसिम जे प्रोटीन वारियुनि दालियुनि वारा खाधा घटि खाइण जी सलाह डि॒नी वेंदी आहे ।
    • केलेरी : घुरिबल अंदाज़ में केलरी (35Kcal/kg) शरीर जे ज़रूरी ख़ौरिश ऐं प्रोटीन जो गै़र ज़रूरी ज़ियान थियण खां रोकण लाइ ज़रूरी आहे ।
    • फास्फोरस : फास्फोरस वारियूं शयूं किडनी फेल्यर जे मरीज़नि खे घटि वठणु तमामु ज़रूरी आहिनि ।
    • किडनी फेल्यर जे मरीज़नि लाइ खोराक (खाधे) बनिस्बति तफ़िसीलवार जा॒ण बाब (चेप्टर​) 27 में डि॒नल आहे ।

    किडनी फेल्यर जो दवा ज़रीये इलाज में सभ खां अहिमियत वारो इलाजु कहिड़ो आहे ?

    किडनीअ फेल्यर जे इलाज में रतु जो दाबु॒ क़ाबू में रखणु सभ खां वधीक अहिमिय्त वारो आहे । किडनी फेल्यर में घणे भाङे मरीज़नि में रतु जो दाबु॒ ऊचो डि॒सण में ईंदो आहे, जेको कमिज़ोर किडनीअ ते बोझ बणिजी उन खे तमामु तकिड़ो नुक़िसान पहुचाअे सघे थो ।

    रतु जो दाबु॒ घटाइण लाइ कहिड़ी दवा वधीक सुठी ?

    रतु जे दाबु॒ खे क़ाबूअ में रखण लाइ कहिड़ी दवा मुवाफिक थींदी इहो किडनीअ जे माहिर नेफ्रोलोजिस्ट या फिज़िशियन द्वारां तइ कयो वेंदो आहे । रतु जो दाबु॒ घटाइण लाइ रवाजी तोर कमु ईंदड़ दवाउनि में केल्शियम चेनल व्लोकर्स​, बीटा ब्लोकर्स​, डाइयूरेटिकस किलोनीन वगै़रह जो समावेश थिअे थो ।

    किडनी फेल्यर जे शुरुआती तबक़े में अे.सी.ई. या अे.आर.बी. तोर मशहूर (जहिड़ोकि केप्टोप्रील​, अनोलेप्रल​, लीसीनोप्रील​, रोमोप्रील​, लोसारटन वग़ैरह ) दवाऊँ वधीक फाइदेमंद थियन थियूं इहे दवाऊँ रतु जो दाबु॒ घटाइण सां गडो॒गड॒ किडनी ख़राब थियण जी प्रक्रिया खे पिणु ढिलो कनि थियूं ।

    क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि में रतु जो दाबु॒ केतिरो क़ाइण रखणु घुरिजे ?

    रतु में वधीक दाब॒ जे करे क्रोनिक किडनी फेल्यर वधीक गंभीर बणिजी सघे थो । किडनीअ खे वधीक ख़राब थियण खां रोकण लाइ रतु जो दाबु॒ 130\80 mm of Hg खां घटि रखणु तमामु ज़रूरी आहे ।

    रतु जो दाबु॒ क़ाबूअ में आहे, इहो कहिड़े नमूने तइ कजे? कहिड़ो तरिक़ो क़ाबूअ में रखण लाइ सुठे में सुठो आहे ?

    थोड़े थोड़े मुदत बइद डॉक्टर खां बी.पी. मापाइणु घुरिजे, जीअं बी.पी. क़ाबूअ में आहे या न​, इहो जा॒णी सघिजे । किडनीअ खे बचाइण लाई बी.पी. हमेशह क़ाबूअ एं हुअणु ज़रूरी आहे । इन लाइ जीअं डायाबिटीज़ जा मरीज़ घर में ग्लुकोमीटर ज़रीये रतु में खंडि जो अंदाज़ मापींदा आहिनि, सागि॒ऐ नमूने बी.पी. मापण जे साधन वसीले बी.पी. मापणु मरीज़ जे कुटुंब जा भाती सिखी वञनि ऐं रोज़ घर में बी.पी. मापे नोटु कनि ऐं उन अनुसार डॉक्टर दवा में मुनासिब फेरिफार करे सघे थो ।

    किडनी फेल्यर में कमु ईंदड़ डाइयूरेटिकस दवाऊँ छा आहिनि ?

    किडनी फेल्यर में पेशाब घटिजी वञणु सां सोजु॒ ऐं साह चढ़िही वञण जी तकलीफ थी सघे थी । डाइयूरेटिकस दवाऊँ पेशाब जो अंदाज़ वधाइण ऐं सोजु॒ घटाइण ऐं साहु बंद थी वञण जी में मदद कनि थियूं । इहो यादु रखणु तमामु ज़रूरी आहे त इहे दवाऊँ पेशाब जो अंदाज़ वधाईनि थियूं पर किडनीअ जी कमु करणु जी शक्ति नथियूं वधाईनि ।

  • ८. किडनी फेल्यर जी आईंदह जे इलाज जी तैयारी
    • * किडनी फेल्यर जे निदान बइद खाबे॒ हथ जे नसुनि जी ख़ास संभाल करिणी ।
    • * निदान बइद खाबे॒ हथ जे नुसनि खे नुक़िसान थियण खां रोकण लाइ, उन मां रतु न वठिजे ऐं उनमें का बि इञेकशन या बा॒टिलो न चडिहाइणो ।
    • * किडनी वधीक ख़राब थिअे तड॒हिं खाबे॒ हथ में शरियाँ ऐं नसु के मिलाइणु यानी अे.बी. फिसच्यूला कराइणी, जेका लंबे अरिसे ताईं हिमो डायालिसीज़ करण लाइ ज़रूरी आहे ।
    • * हिपेटाईटिस -बी जे वेकसिन जो कोर्स तकिड़ो कराइजे ईअं करण सां जड॒हिं डायालिसीज़ या किडनी ट्रान्सप्लानेशन कराइणो पवे तड॒हिं हिपेटाईटिस बी (ज़हिरी साई जोन्डीस​) थियण जो ख़तिरो टाड़े सघिजे थो । हिपेटाईटिस बी लाइ चार वेकसिन वठिणा पवंदा आहिनि जेके जनम खां पोइ यकिदम पहिरियों, हिक महिने खां पोइ बि॒यों, बि॒ऐं महिने खां पोइ टियों ऐं चोथों 6 महिनन जी उम्र खां पोइ वठिणो पवंदो आहे, जेको कुलिहे जे भरिसां मुशिकिन में हणाइणो हूंदो आहे ।
    • मरिज़नि खे डायालिसीज़ ऐं किडनी ट्रान्सप्लानेशन बाबति पूरी जा॒ण डि॒यणु घुरिजे ।

    डायालिसिज़ कां अगु॒ में किडनी ट्रान्सप्लानेशन लाइ

    इन लाइ मुनासिब कोशिशनि जी ज़रूरत आहे । हिन क़िसिम जे किडनी ट्रान्सप्लान्ट में जड॒हिं क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि जी किडनी वधीक ख़राब थिअे तड॒हिं, पर डायालिसिज़ जी ज़रूरत पवे, उन खां अगि॒एं तबक़े में कयो वेंदो आहे ।

  • ९. नेफ्रोलोजिस्ट खे डे॒खारणु
  • क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि खे नेफ्रोलोजिस्ट जी नज़र हेठि इलाज कराइणु तममु ज़रूरी आहे । नेफ्रोलोजिस्ट खे सवेल ई डे॒खारे ज़रूरी इलाज बाबति जा॒ण हासिल करे, मरीज़ खे डायालिसिज़ जी केतिरी ज़रूरत आहे, इहो जा॒णी सघिजे थो ऐं मरीज़ जी बीमारीअ खे वधण खां रोके सघिजे थो । ईअं करण सां किडनीअ खे वधीक नुक़िसान थियण खां बचाएे भविष्य में किडनी ट्रान्सप्लानेशन ऐं डायालिसिज़ जी ज़रूरत खे घटि करे सघिजे थो ।

    किडनी फेल्यर में अेनेमीया जो इलाज छो ऐं कहिड़े नमूने कयो वेंदो आहे ?

    जड॒हिं किडनी रवाजी नमूने कमु कंदी रहंदी आहे तड॒हिं अेरीथ्रोपोअेटीन नाले वारो हारमोन पिणु ठाहींदी आहे, जेको रतु जा गा॒ढ़िहा जुज़ा ठाहिण में मददगार थींदो आहे । किडनी फेल्यर जे मरीज़नि में किडनीअ जी कमु करण जी शक्ति घटिजी वञण सबबु इहो हारमोन न ठहण करे अेनेमिया थिअे थी ।

    इन लाइ ज़रूरी आयर्न ऐं विटामिन वारियूं दवाऊँ डि॒नियूं वेंदियूं आहिनि । किडनी वधीक ख़राब थियण करे इन्हनि दवाउनि हूंदे बि हिमोग्लोबिन घटिजंदी नज़र ईंदी आहे । इन स्टेज ते ख़ास क़िसिम जा अेरिथ्रोपोअेटिन जा इञेक्शन डि॒ना वेंदा आहिनि । इहे इञेक्शन तमामु असरदायक ऐं सविलाईअ सां डे॒ई सघिजनि था, तंहिं हूंदे बि वधीक ख़र्चाऊ हुअण सबबु सभु मरीज़ उहे वठी नथा सघनि । अहिड़नि मरीज़नि लाइ घटि ख़र्च वारी पर वधीक जोखाइती पद्वती रतु चढ़िहाइण जी आहे ।

    रतु में एनेमिया जो इलाज छो ज़रूरी आहे ?

    रतु वारो हिमोग्लोबिन फिफिड़नि मां ऑक्सीजन खणी सजे॒ शरीर में पहुचाइण जो अहिमियत वारो कमु करे थो, जंहिं करे शरीर खे रोज़ानी मशिगूलियुनि लाइ शक्ति मिले थी ऐं दिल खे तंदुरस्त रखे थो । अेनेमिया (घटि हिमोग्लोबिन​) जे करे कमिज़ोरी, थकु लग॒णु, थोड़ो कमु करण सां साहु चढ़िही वञणु, छातीअ में सूर थियणु , शरीर जी बीमारियुनि सां मुक़ाबिलो करण जी शक्ति घटिजी वञणु, थधि सही न सघणु, कम डां॒हुं बेरूखी, धकि धकि वधी वञणु वग़ैरह तकिलीफूं थी सघनि थियूं तंहिंकरे किडनी फेल्यर जे मरीज़ जी तंदुरस्तीअ लाइ अेनेमिया जो इलाज ज़रूरी आहे

स्रोत : किडनी एजुकेशन

3.0
गडु समालोचना

पंहिंजो सुझाउ डियो

Enter the word
नेविगतिओन
Back to top