वंडो

प्रोस्टेट जी तकिलीफ

प्रोस्टेट ग़दूद फक़ति मर्दनि में ई हूंदो आहे

प्रोस्टेट ग़दूद फक़ति मर्दनि में ई हूंदो आहे । प्रोस्टेट ग़दूद जे वधी वञण (वडो॒ थियण​) करे पेशाब में तकिलीफ रवाजी तरह ६० सालनि खां पोइ याने वडी॒ उम्र में डि॒सण में ईंदी आहे । भारत ऐं दुनिया में सरासरी उम्र में इज़ाफि थियण सां गडो॒गडु॒ BPH जे मसइलनि जे अंदाज़ में पिणु इज़ाफो नज़र अचे थो ।

प्रोस्टेट किथे आयल हूंदी आहे ऐं उन जो कमु छा आहे ?

मर्दनि में सोपारीअ जे क़द जेतिरी प्रोस्टेट ग़दूद मसाने जे हेठिअें हिस्से (Bladder neck) में आयल हूंदी आहे ऐं उहा पेशाब जी नली (युरेथ्रा) जे शुरुआती भाङे जे आस पास वकोड़ियल हूंदी आहे याने मसाने मां निकिरंदड़ पेशाब जी नलीअ जो शुरूआत वारो हिस्सो प्रोस्टेट जे विच में लघंदो आहे ।

वीर्य खणी वेंदड़ नलियूं प्रोस्टेट मां लंघे पेशाब जी नलीअ में पासे मेम खुलंदियूं आहिनि । इन सबब जे करे प्रोस्टेट ग़दूद मर्दनि जो औलाद पैदा करण जो हिक मुख्य ऊज़िवो आहे ।

बिनाईन प्रोस्टेटिक हाइपर प्लासिया (Benign Prostatic Hyperplasia-BPH) छा आहे ?

  • बिनाईन प्रोस्टेटिक याने उम्र जे " वधण सां रवाजी तरह डि॒सण में न अचे, अहिड़े क़िसिम जी प्रोस्टेट जी तकिलीफ​, जेका नुक़िसान कार न हूंदी आहे (जेका कैंसर जे करे न आहे ) ।
  • हाइपर प्लासिया याने प्रोस्टेट जी क़दु वधी वञणु । मुख़ितसर (थोड़े में) , उम्र वधण सां मर्दनि में प्रोस्टेट जे ग़दूद जे क़द में इज़ाफो थियण सां रवाजी नमूने नज़र ईंदड़ तकिलीफ खे बी.पी.अेच​. चइजे थो । प्रोस्टेट जे क़द जे वधण जे करे उहो मूत्र मार्ग में रंडक करे थो ऐं पेशाब करण में तकिलीफ पवंदी आहे । पेशाब जी नली सोड़िही थियण जे करे पेशाब जो वहिकरो (धार) आहिस्ते ऐं सनिहो थी वेंदो आहे ।

बी.पी.अेच. जूं निशानियूं

बी.पी.अेच. जूं निशानियूं रवाजी तरह ५० सालनि जी उम्र खां पोइ डि॒सण में ईंदियूं आहिनि । इन खां सवाइ अध खां वधीक मर्दनि में ७० सालनि में ऐं ९०% मर्दनि में ७० खां ८० सालनि में नज़र ईंदियूं आहिनि ।

बी.पी.अेच. जे करे मर्दनि में थींदड़ मुख्य तकिलीफूं हेठीअं रीति आहिनि :

  • रात जो हर घड़ी पेशाब करन लाइ वञिणो पवे, जेका रवाजी नमूने पहिरीं निशानी आहे ।
  • पेशाब जो वहिकरो आहिस्ते ऐं छिड़ो (सनिही धार​) हूंदो आहे ।
  • पेशाब लाहिण में शुरूआत में वक़्त लगे॒ या ज़ोर लगा॒इणो पवे ।
  • पेशाब लगे॒ तड॒हिं यकिदम वञिणो पवे ऐं क़ाबू न रहे ।
  • पेशाब अटिकी -अटिकी अचे ।
  • पेशाब करण खां पोइ फुड़ो-फुड़ो थी पेशाब लहे, कड॒हिं - कड॒हिं त कपिड़नि में बि पेशाब वही वञे ।

बी.पी.अेच. जे करे पैदा थींदड़ गंभीर मसइला

जेकड॒हिं वक़्तसरि योग्य इलाज न कयो वञे त बी.पी. अेच​. जे करे तमाम थोड़े वक़्त में किनि मरीज़नि में घणा गंभीर मसइला थी सघनि था ।

  • ओचितो ई ओचितो पेशाब बिल्कुल अटिकी पवणु :

    बी.पी.अेच. जो वक़्तसिर इलाज न करण जे करे पेशाब में ओचितो ई ओचितो, मुकमल ऐं पेशाब जे वहिकरे में अक्सर दर्दनाक रंडक थींदी आहे । (Acute urinary retention) अहिड़नि मरीज़नि में केथेटर विझाइणो पवंदो आहे ऐं पेशाब खे मसाने मां लाहिणो पवंदो आहे ।
  • घणे वक़्त ताईं ओचितो ई ओचितो पेशाब अटिकी पवणु :

    पेशाब जे वहिकरे में रंडक जे करे लंबे अरिसे ताईं पेशाब अटिकी पवे त उन खे क्रोनिक युरिनरी रिटेन्शन चइबो आहे । इन सबब जे करे पेशाब करण खां पोइ मसाने में जेको पेशाब रहिजी वेंदो आहे । उन खे रेसीडयूअल युरीन चइबो आहे । इन मसइले जे करे मरीज़ खे अटिकी करे पेशाब ईंदो आहे या हर घड़ी थोड़ो - थोड़ो पेशाब करण लाइ वञिणो पवंदो आहे ।
  • मसाने ऐं किडनीअ खे नुक़िसान :

    मूत्र मार्ग में रंडक वधण सां मसाने में घणो वधीक पेशाब गडु॒ थींदो आहे । इन सबब जे करे किडनीअ मां मसाने में ईंदड़ पेशाब जे रस्ते में रंडक पैदा थींदी आहे, जंहिंकरे पेशाब वाहिनी ऐं किडनी फुंडी वेंदियूं आहिनि । इहो मसइलो (तकिलीफ​) वधी वञे त किडनी फेल्यर पिण थी सघे थो ।
  • मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन ऐं पथिरी :

    पेशाब मुकमल नमूने न लहण जे करे पेशाब मसाने में कड॒हिं बि संपूर्ण नमूने ख़ाली न थींदो आहे । इन सबब करे पेशाब में हर घड़ी (वक़्ति बि वक़्ति) इनफेक्शन ऐं पथिरी थी सघे थी ऐं इन्फेक्शन खे क़ाबूअ में आणण लाइ तकिलीफ पवंदी आहे ।
  • असां खे इहो याद रखणु घुरिजे त बी.पी.अेच​. जे करे प्रोस्टेट कैंसर जो ख़तिरो न रहंदो आहे ।

बी.पी.अेच​. जो निदान​

प्रोस्टेट जी तपास​

सर्जन या युरोलाजिस्ट मल​-मार्ग (गुदिया) में आङिर विझी तपास करे (DRE-Digital Rectal Examination) प्रोस्टेट क़द बाबत ऐं बी॒ जा॒ण हासिल कंदा आहिनि । बी.पी.अेच. में प्रोस्टेट जो क़द वधंदो आहे ऐं ग़दूद ते आङिर रखी थींदड़ तपास में ऊहो लस​ओ ऐं रब॒र जहिड़ो लिचिकेदार लगं॒दो आहे । प्रोस्टेट जी आङिर ज़रीये कयल तपास में जेकड॒हिं प्रोस्टेट सख़्त गं॒ ढि जहिड़ो, खहुरो लगे॒ त उहो प्रोस्टेट जी कैंसर थी सघे थी, इहो बु॒धाअे थो ।

सोनोग्राफीअ जी तपास ऐं पेशाब बइद मसाने में रहियल पेशाअब जे अंदाज़ जी तपास​

बी.पी.अेच. जे निदान में हीअ तपास तमाम घणी कराइती आहे । हिन तपास में बी.पी.अेच. जे करे प्रोस्टेट जो क़दु वधणु, पेशाब करण खां पोइ मसाने में पेशाब जो रहिजी वञणु ऐं केतिराई दफ़ा मसाने में पथिरी थियणु या पेशाब वाहिनी ऐं किडनीअ जो फुंढणु वगै़रह फेरिफार नज़र ईंदा आहिनि ।

हिन तपास ज़रीये पेशाब करण खां पोइ मसाने में रहियल पेशाब जो अंदाज़ जा॒णी सघिजे थो । इहो अंदाज़ 50ml खां घटि हुजे त रवाजी नमूने बराबर हूंदो आहे। पर जेकड॒हिं इहो अंदाज़ 100-200ml या उन खां वधीक हुजे त अगि॒ते योग्य तपास ऐं इलाज कराइणु ज़रूरी बणिजे थो ।

प्रोस्टेट सीमप्टम स्कोर या इन्डेक्स​

इन्टर नेशल प्रोस्टेट सीमप्टम स्कोर (IPSS) या (American urological Association-AUA) जी मदद सां बी.पी.अेच. जे निदान में मदद मिली सघंदी आहे । मरीज़ जी प्रोस्टेट जी बीमारीअ सां वाबस्ता शिकायतुनि जी हाज़री ऐं सक़्ताई (Severity) खे ध्यान मेम रखी चार्ट ठाहियो वेंदो आहे । इन चार्ट में शिकायत जे अंदाज़ मूजिब स्कोर तय कयो वेंदो आहे , जेको बीमारीअ जे निदान ऐं उअन जो अंदाज़ जी जा॒ण डीं॒दो आहे ।

लेबोरेटरी तपास​

लेबारेटरी जी तपास ज़रीये बी.पी.अेच. जो निदान थी सघंदो आहे पर बी.पी.अेच. पैदा थींदड़ गंभीर मसइलनि बाबत सही जा॒ण मिली सघंदी आहे । हिन तपास में पेशाब में इन्फेक्शन ऐं रतु ऐं किडनीअ जी कमु करण जी शक्तिअ जी तपास कई वेंदी आहे ।

पी.अेस.अे. (Prostate Specific Antigen-P.S.A)

बि॒यूं तपासूं

बी.पी.अेच. जूं निशानियूं वारे हरहिक मरीज़ खे बी.पी.अेच. जी तकिलीफ न हूंदी आहे । मरीज़ जी बीमारीअ जे पके निदान लाइ केतिराई दफ़ा यूरोफ्लोमेट्री, आई.वी.यू. युरोडायनामिक स्टडीज़​, सिस्टोकोपी, प्रोस्टेट बायोप्सी, सी.टी. युरोग्राम पायलोग्रफी जी मदद वरिती वेंदी आहे ।

बी.पी.अेच. जी तकिलीफ वारे मरीज़ खे छा प्रोस्टेट कैंसर जी तकिलीफ थी सघे थी ? उन जो निदान कहिड़े नमूने थी सघंदो आहे ?

हा, पर असां जे देश में बी.पी.अेच. जहिड़ी तकिलीफ वारिनि मरीज़नि मां तमाम थोड़नि मरीज़नि में प्रोस्टेट जे कैंसर जी तकिलीफ हूंदी आहे । पर बी.पी.अेच​. इहो कैंसर जो कारण न हूंदो आहे । प्रोस्टेत कैंसर जे निदान लाइ टे मुख्य तपासूं हूंदियूं आहिनि , जंहिं में :

  • आङिर ज़रीये तपास​ (DRE)
  • रतु में पी.अेस​.अे जी तपास ।
  • प्रोस्टेट बायोप्सी : ख़ासि क़िसिम जे सोनोग्राफी प्रोब जी मदद सां, मल मार्ग में सुई विझी प्रोस्टेट जी बायोप्सी कई वेंदी आहे । जंहिं जी हिस्टोपेथोलोजीअ जी तपास कैंसर जे निदान लाइ मददगार थी सघे थी ।

बी.पी.अेच​. जो इलाज​

बी.पी.अेच​. जे मरीज़ में बीमारीअ जे निशानियुनि जी हाज़िरी, उन जी सख़िताई ऐं उन सां शामिल बिं॒यू तकिलीफूं मरीज़ जे रोज़ाने कमनि में केतिरे क़दुर असर कनि थियूं, उन जे आधार ते योग्य इलाज तय कयो वेंदो आहे । इलाज जो मक़िसद बीमारीअ जे निशानियुनि जी सख़्ताईअ खे घटि करण​, जीवन जो तरीक़े (Life Style) सुधारण​, (बी.पी.अेच​. खे ध्यान में रखी), पेशाब करण खां पोइ मसाने में रहियल पेशाब जो अंदाज़ घटि करणु ऐं बी.पी.अेच​. जे करे बि॒यूं तकिलीफूं पैदा न थियनि, इन लाइ हूंदो आहे ।

बी.पी.अेच​. इलाज लाइ मुख्य टे विकल्प हूंदा आहिनि

  • जीअण जे तरीक़े में तबिदील ऐं बी॒ संभाल ।
  • दवा ज़रीये इलाज ।
  • सर्जीकल इलाज ।

 

जीअण जी तरीक़े में तब्दील ऐं बी॒ संभाल

बी.पी.अेच​. जे मरीज़नि में जेकड॒हिं तकिलीफ हल्की हुजे त का बि दवा डि॒नी न वेंदी आहे । पर इन जो मतिलब इहो कोन्हे त​, असां खे का बि ख़बरदारी रखिणी न आहे । सही संभाल​, सालियानो चेक​-अप​, जीअण जे तरीक़े में तबिदील आणे बीमारीअ जी निशानियुनि खे घटाअे सघिजे थो या वधीक ख़राब थियण खां रोके सघिजे थो ।

  • पेशाब लाइ वञण ऐं पाणियठु वठण में ध्यान रखिजे ।
  • योग्य वक़्त जी विथीअ ते पेशाब करे वठणु घुरिजे । वधीक घणे वक़्त ताईं पेशाब खे रोके न रखिजे ।
  • हिक बि॒अे मथां ब॒ दफ़ा पेशाब लाइ वञिणो । पहिरियाईं रवाजी नमूने पेशाब लाइ वञिणो ऐं थोड़ी देर खां पोइ वरी पेशाब लाहिण जी कोशिश करिणी, पर वधीक ज़ोर न लगा॒इणो ।
  • रवाजी नमूने शाम जे वक़्त दरम्यान केफीन या अल्कोहल जो इस्तेमाल न कजे, छाकाणि त उहे मसने जे मुशकिन जी कमु करण जी शक्ति वधाअे ऐं किडनी द्वारां वधीक अंदाज़ में पेशाब ठाहीनि था ।
  • वधीक अंदाज़ में पाणियठ २४ कलाकनि मेम न वठिजे ( रोज़ ३ लिटरनि खां घटि पाणियठ वठिजे) इन खां सवाइ हिक ई वक़्त वधीक पाणियठ न वठी थोड़े-थोड़े वक़्त खां पोइ पाणियठ वठिजे ।
  • राति जो सुम्हण खां अगि॒ या बा॒हिर वञण खां अगि॒ पाणियठ घटि वठिजे ।
  • जिनि दवाउनि जे करे वधीक पेशाब ईंदो हुजे, उन जो वक़्त बदिलाअे छडि॒जे ।
  • योग्य ऐं नेमाइती कसिरत कजे ।
  • सर्दी, खंघि जूं दवाऊँ डॉक्टर जी सलाह खां सवाइ न वठिजनि छाकाणि त इन्हनि दवाउनि जे करे ओचितो ई पेशाब बंद थियण या बी.पी.अेच. जूं निशानियूं वधी सघनि थियूं ।
  • क़ब्ज़ीअ जो योग्य इलाज कजे ।
  • मानसिक छिक न रखिणी, योग्य कसरत करिणी ।

दवा ज़रीये इलाज

जड॒हिं बी.पी.अेच. जे करे पेशाब में थींदड़ तकिलीफूं वधीक अंदाज़ में न हुजनि या उन जे करे गंभीर मसइला थिया न हुजनि, अहिड़नि घणे क़दुर मरीज़नि में दवा ज़रीये इलाज कयो वेंदो आहे । दवा ज़रीये इलाज में बि॒नि क़िसिमनि जूं दवाऊँ हूंदियूं आहिनि : आल्फा ब्लोकर्स ऐं अेन्टी अेंड्रोजन ।

  • आल्फा ब्लोकर्स (Tamsulosin, alfuzosin, terazosin and doxazosin):

    इन क़िसिम जूं दवाऊँ प्रोस्टेट ऐं आसपास जे मुशकिन खे ढिलो कनि थियूं , जंहिं करे पेशाब में रंडक न थिअे ऐं पेशाब छूट सां लहे । हिन दवा जे करे घणाई दफ़ा मथो गौ॒रो लगे॒ ऐं तोर कमिज़ोरी अची सघे थी ।
  • अेन्टी अेंड्रोजन (5-आल्फा रिडक्टेज़ इनहिबिटर (5-alpha reductase inhibitor)​) :

    हिन दवा जे करे प्रोस्टेट जो क़दु घटिजी वेंदो आहे, पेशाब जो वहिकरो वधी वेंदो आहे ऐं बी.पी.अेच. जूं निशानियूं घटिजनि थियूं । आल्फा ब्लोकर्स वागुंर हिननि दवाउनि जो असर (रवाजी तोर ६ महिननि खां पोइ फर्क़ नज़र ईंदो आहे ) यकिदम नज़र न ईंदो आहे पर प्रोस्टेट एनलार्जमेन्ट वधीक हुजे त उन लाइ ही दवाऊँ बराबर हूंदियूं आहिनि । हिननि दवाउनि जे मुख्य में संभोग॒ में तकिलीफ​, नामर्दी थी सघे थी ।
  • मेलापी इलाजु (Combination treatment)

    आल्फा ब्लोकर्स ऐं आल्फा रिडकटेज़ इन्हीबीटर अलग॒-अलग॒ नमूने कमि कंदियूं आहिनि पर ही ब॒ई दवाऊँ गडु॒ डि॒यण सां वधीक असरदायक थींदियूं आहिनि । बी.पी.अेच. जूं निशानियूं वधीक हुजनि, प्रोस्टेट जो क़द वधीक हुजे ऐं आल्फा ब्लोकर्स जे इलाज हूंदे बि कुझ बराबर फायदो थींदो न हुजे तड॒हिं हिन क़िसिम जो इलाजु करणु सलाह भरियो आहे ।

सर्जीकल (दवा खां सवाइ बि॒यो ख़ास​) इलाजु

हेठियुनि तकिलीफुनि में बराबर दवा जे बावजूद संतोषकारक फायदो थींदो न आहे ऐं हेठियुनि तकिलीफुनि में दूरबीन आपरेशन या बी॒ पद्वतीअ जे इलाज जी ज़रूरत पवंदी आहे ।

  • दवा ज़रीये इलाज जे बावजूद बी.पी.अेच. जे निशानियुनि में राहत न थियणु ।
  • ओचितो ई पेशाब अटिकी वञणु ।
  • पेशाब में हर - घड़ी इन्फेक्शन थियणु ।
  • बी.पी.अेच. जे करे किडनी फेल्यर थियणु ।
  • बी.पी.अेच. सां गडो॒गडु॒ मसाने में पथिरी थियणु ।
  • पेशाब करण खां पोइ मसाने में वधीक पेशाब गडु॒ थियण करे किडनी ऐं पेशाब वाहिनीअ जो फुंडी पवणु ।

दवा खां सवाइ (सर्जीकल​) बि॒अे इलाज में पिणु मुख्य ब॒ विकल्प आहिनि ।

  • टी.यु.आर​.पी.
  • टी.यु. आइ. पी. (TUIP)
  • चीर डे॒ई आपरेशन करणु (Open Prosttatectomy)

टी. यु. आर​. पी. :

हिन क़िसिम जो इलाजु रवाजी तरह तमाम आरामदायक ऐं दवा ज़रीये इलाज खां बि सुठो हूंदो आहे । 85-90 % मरीज़नि मेम पेशाब में थींदड़ रंडक खे दूर करे थो ऐं उहो लंबे अरिसे ताईं असरदायक हूंदो आहे , ही आपरेशन युरोलाजिस्ट​ द्वारां कयो वेंदो आहे, जंहिं में प्रोस्टेट जे जंहिं हिस्से जे करे पेशाब में रंडक थींदी हुजे, उन हिस्से खे दूर कयो वेंदो आहे । हिन आपरेशन में इस्पताल म एम २-३ डीं॒हं रहणो पवंदो आहे पर चीर (चुटिको incision) या टांका डि॒यणा न पवंदा आहिनि ।

आपरेशन खां अगि॒ में छा करणु घुरिजे

  • आपरेशन खां अगि॒ में मरीज़ खां योग्य जा॒ण वठिजे ऐं फिज़ीशियन द्वारां तपास कराइजे त मरीज़ आपरेशन लाइ फिट आहे या न ।
  • जेकड॒हिं मरीज़ खे बी॒ड़ी, तमाकु जी आदत हुजे त उहा बंद कराइःणी पवंदी, छाकाणि त उन जे करे फिफड़नि में इन्फेक्शन ऐं मरीज़ खे रिकवरी (ठीक थियण​) में देरि थी सघे थी ।
  • आपरेशन खां अगि॒ में मरीज़ खे रतु खे छिड़ो (पतिलो) करण जूं दवाऊँ (Warfarin, aspirin , Clopidogrel) न डि॒जनि ।

आपरेशन दरम्यान​

  • हिन आपरेशन में रवाजी तरह हिक खां डे॒ढ कलाक जो वक़्तु लगी॒ वेंदो आहे ।
  • हिन इलाज में रवाजी तरह मरीज़ खे बेहोश करण खां सवाइ चेल्हि (कमर ) में इञेक्शन (Spinal Anaesthesia) हणी, कमर हां हेठि वारो शरीर जो हिस्सो निसतो (खोटो) कयो वेंदो आहे ।
  • हिन पदॄतिअ में मूत्र मार्ग (युरेथ्रा) में दूरबीन (Endoscope) विझी प्रोस्टेट जी गं॒ढि जो रंडक कंदड़ हिस्सो दूर कयो वेंदो आहे ।
  • हीअ प्रक्रिया दूरबीन या विडियो अेन्डोस्कोपी द्वारां लगा॒तार डि॒सी करे कई वेंदी आहे, जंहिं करे प्रोस्टेट घुरिबल ज़रूरी अंदाज़ में दूर करे सघिबो आहे ऐं इन दरम्यान निकिरंदड़ रतु खे पक ई क़ाबूअ में आणे सघिजे थो ।
  • आपरेशन दरम्यान प्रोस्टेट जे टुकर खे लेबोरेटरीअ में तपास लाइ मोकिलियो वेंदो आहे ऐं उन खां पोइ तय करे सघिबो आहे त कैंसर आहे या न ?
  • हिन आपरेशन खां पोइ रवाजी नमूने मरीज़ खे फक़ति टिनि खां चार डीं॒हं ई इस्पताल में रहिणो पवंदो आहे ।

आपरेशन खां पोइ

  • हास्पिटल में 3 खां 4 डीं॒हनि ताईं रहिणो ।
  • आपरेशन खां पोइ मूत्र मार्ग (युरेथ्रा) में डिघो टिनि नलियुनि वारो केथेटर विधो वेंदो आहे ।
  • उन खां पोइ 12-24 कलाकनि ताईं उन केथेटर मां ब्लेडर इरीगेशन कयो वेंदो आहे ।
  • ब्लेडर इरीगेशन करण सां आपरेशन दरम्यान रहियल रतु या रतु जूं गं॒ढियूं कढी सघिबियूं आहिनि ।
  • मुनासिब वक़्त ते जड॒हिं पेशाब बिल्कुल साफ ईंदो आहे त पोइ केथेटर कढी छडि॒बो आहे ।

आपरेशन खां पोइ जी सलाह

टी.यु.आर​.पी. खां हेठियूं गा॒ल्हियूं जल्द शफायाब (सिहतयाब​) थियण में मदद कनि थियूं :

  • मसाने खे साफ करण लाइ वधीक अंदाज़ में पाणियठु वठिजे ।
  • क़ब्ज़ी थियणु न डि॒जे ऐं ज़ोर न लगा॒इजे । लेट्रिन में ज़ोर करण सां रतु वही सघे थी । इन लाइ क़ब्ज़ियत जो बराबर इलाजु कजे ।
  • डॉक्टर जी सलाह खां सवाइ रतु छिड़ो ( पतिलो) करण जी दवा चालू न कजे ।
  • ४-६ हफितनि ताईं गौ॒रो या वज़न वारो कमु न कजे ।
  • ४-६ हफिता संभोग॒ न कजे ।
  • बी॒ड़ी, सिगरेट​, शराब​, केफिन​, वधीक मसालनि वारो खाधो न वठिजे ।

आपरेशन खां पोइ पैदा थींदड़ गंभीर मसइला

  • आपरेशन खां पोइ यकिदम थींदड़ गंभीर मसइलनि में रतु जो वहणु या पेशाब में इन्फेक्शन थियणु या के बि॒या रवाजी मसइला थी सघनि था ।
  • मूत्र मार्ग (युरेथ्रा) सोड़िहो (structure) थी वञणु, वीर्य जो वहिकरो उबिती दिशा में थियणु ।
  • वीर्य जो उबितड़ि दिशा में वहण (Regrpgrade ejaculation) इहो TURP जे आपरेशन खां पोइ रवाजी नमूने 70% मरीज़नि में डि॒सण में ईंदो आहे ।
  • वधीक वज़नु (थोल्हि), बी॒ड़ी, सिगरेट​, शराब वापिराइणु, डायाबिटिज़ ऐं बि॒यनु आदतुनि जे करे आपरेशन खां पोइ जा मसइला वधी सघनि था ।

 

आपरेशन खां पोइ इस्पताल मां मोकल मिलण खां पोइ डॉक्टर जो संपर्क यकिदम कड॒हिं कजे

  • पेशाब न लहे या पेशाब लहण में तकिलीफ थिअे ।
  • दवा वठण खां पोइ बि लगा॒तार सूर रहे ।
  • पेशाब में वधीक रतु या रतु जा गं॒ढा अचनि ।
  • इन्फेक्शन थियण जूं निशानियूं जीअं त बुख़ार​, थधि लगे॒ ।

टी.यु.आइ.पी

टी.यु.आइ.पी. जो आपरेशन पिणु टी.यु.आर​.पी. वांगुर ई थींदो आहे पर हिन में प्रोस्टेट कढण जे बदिरां उन में ज़रूरत मुजिब ब॒ या टे ऊन्हा चीर (Cuts) प्रोस्टेटा में कया वेंदा आहिनि, जंहिं जे करे मूत्र मार्ग में थींदड़ दाबु॒ घटिजी वेंदो आहे । आपरेशन खां पोइ मूत्र मार्ग वेकिरो थी वेंदो आहे, दाबु॒ घटिजी वञण करे पेशाब जो वहिकरो सुधिरे वेंदो आहे ।

टी.यु.आइ.पी. जे मुख्य फायदनि में रतु जो वहणु घटिजी वञणु, आपरेशन खां पोइ जूं तकिलीफूं घटि नज़र अचनि थियूं , इस्पताल में घटि रहिणो पवे थो ऐं वीर्य जो ऊबतड़ि दिशा में वहिकरो घटिजी वञे थो, जेको टी.यु.आर​.पी. में डि॒सण में ईंदो आहे ।

पर टी.यु.आइ.पी. जे नुक़िसाननि में : बी.पी.अेच​. जे निशानियुनि जे इलाज में योग्य लाभ मिली नथो सघे ऐं ज़रूरत मुजिब हिन आपरेशन खां पोइ टी.यु.आर​.पी. (टी.यु.आर​.पी.) पिणु कराइणो पवंदो आहे । वडे॒ क़द वारी प्रोस्टेट लाइ ही आपरेशन सलाह भरियो न आहे ।

आपरेशन (चीर डे॒ई) ज़रीये इलाज​

हिन आपरेशन में पेट ते चीर डे॒ई प्रोस्टेट कढियो वेंदो आहे । जड॒हिं प्रोस्टेट जी गं॒ढि तमाम वडी॒ हुजे या उन सां गडु॒ मसाने जी पथिरीअ जो आपरेशन पिणु ज़रूरी हुजे ऐं युरोलोजिस्ट जे राये अनुसार उहो दूरबीन ज़रीये मुमकिन न हुजे, अहिड़नि तमाम घटि मरीज़नि में आपरेशन जी पद्वतिअ जो उपयोग थींदो आहे ।

मीनीमली इनवेसिव ट्रीटमेन्ट​

घटि आपरेशन वारी आधुनिक पद्वतियुनि (Minimally invasive treatment) में वधीक लाभ थींदो आहे । हिननि आधुनिक पद्वतियुनि ज़रीये बी.पी.अेच​. जे इलाज में तमाम सहोलियत ऐं लाभ मिले थो । हिन इलाज जे पद्वतियुनि मेम गरमी, लेसर (Laser) या Electro vapourization जो उपयोग थींदो आहे जेको प्रोस्टेट वधीक टिसूज़ खे (जेके रंडक कनि था) कढंदा आहिनि ।

इन्हनि आधुनिक पद्वतियुनि जे फायदनि में :

  • इस्पताल में घटि रहणु ,अेनेस्थेसिया जो अंदाज़ घटि वापिराइणु, इलाज खां पोइ गंभीर मसइला तमाम घटि नज़र अचनि ऐं तंदुरस्त थियण (Recovery) में पिणु वक़्त घटि लगे॒ थो ।
  • इन खां सवाइ इन्हनि पद्वतियुनि जा नुकसान हिन रीति आहिनि :
  • टी.यु.आर​.पी. खां घटि असरदायक​, 5 खां 10 सालनि खां पोइ वरी सर्जरी कराइणी पवे, लेबोरेटरी तपास लाइ प्रोस्टेट टिस्यु मिली नथो सघे (लिकल प्रोस्टेट कैंसर खे बा॒हिर कढण लाइ) (ऐं उन जी सलामतीअ ऐं तासीर जे कुछ लंबे वक़्त जे अभ्यास लाइ) । हीअंर इन्हनि आधुनिक पद्वतियुनि जो वाहिपो नज़र नथो अचे ऐं तमाम ख़रिचाऊ पद्वतियूं हूंदियूं आहिनि ।

ट्रान्सयूरेथ्रल माइक्रोवेव थरमो थेरापी (TUMT)

हिन पद्वतीअ में माइक्रोवेव जी गरमीअ जो उपयोग थींदो आहे, जेको वधीक प्रोस्टेट खे कढण में मददगार थींदो आहे ।

ट्रान्स यूरेथ्रल नीडल अेबलेशन आफ प्रोस्टेट​ (TUNA)

हिन इलाज में रेडियो फ्रिक्वंसी ऊर्जा जो उपयोग थींदो आहे, जेको रंडक कंदड़ प्रोस्टेट जे हिस्से खे कढण में मददगार थींदो आहे ।

वाटर इन्डयुसिड थरमो थेरापी (WIT)

हिन टेकनिक में गरम पाणीअ जो उपयोग थींदो आहे, जेको प्रोस्टेट जे वधियल ऐं सड़ियल हडे॒ खे दूर करे थो ।

प्रोस्टेटिक स्टेन्ट​

हिन पद्वतिअ में हिकु स्टेन्ट प्रोस्टेटिक युरेथ्रा जे सोड़िही जग॒ह में रखियो वेंदो आहे , जेको प्रोस्टेट जे दाब॒ ज़रीये मूत्र मार्ग खे वेकिरो कंदो आहे ऐं इन खां सवाइ पेशाब में तकिलीफ न थींदी आहे । ही स्टेन्ट वायर जो ठहियल हूंदो आहे ।

ट्रान्स यूरेथ्रेल लेसर थेरापी (TLT)

इलाज जी हिन पद्वतीअ में प्रोस्टेट जो जेको हिस्सो रंडक जे रूप में हूंदो आहे, उन खे लेसर ज़रीये दूर कयो वेंदो आहे ।

बी.पी.अेच​. जे मरीज़नि खे डॉक्टर जो संपर्क कड॒हिं करणु घुरिजे ?

  • पेशाब करण में तकिलीफ थिअे या पेशाब न लहे ।
  • पेशाब में साड़ो थिअे, सूर थिअे या बांस अचे या बुख़ार थिअे ऐं थधि लगे॒ ।
  • पेशाब में रतु अचे ।
  • पेशाब ते क़ाबू न रहे ऐं अंदरियां कपड़ा आला थी वञनि ।

स्त्रोत: किडनी एजुकेशन

2.86538461538
गडु समालोचना

पंहिंजो सुझाउ डियो

Enter the word
नेविगतिओन
Back to top