होम / सेहत / बिमारी / किडनीअ बाबत शुरुआती (बुनीयादी) जा॒ण / किडनीअ जे बीमारियुनि जो निदान​
वंडो

किडनीअ जे बीमारियुनि जो निदान​

हिन भाग में किडनीअ जे बीमारियुनि जो निदान​ जे बाबत जानकारी डि॒नियल आहे।

किडनीअ जूं केतिरियूं बिमारियूं ठीक थी नथियूं सघनि ऐं उन लाइ घुरबलि इलाज तमाम खरचाइतो ऐं जोखाइतो हूंदो आहे । वरी, किडनीअ जे गंभीर बीमारियुनि में पिणु शुरूआती निशानियूं घटि हूंदियूं आहिनि । जेकडहिं किडनीअ जी बीमारिअ जो निदान तकिड़ो थी वञे , उन जो इलाज सवलाईअ सां थी सघे थो । तंहिं करे किडनीअ जी बीमारीअ जी शंका पवे त यकिदम तपास कराए बीमारीअ जि सवेल ई सुञाणप (निदान​) कराइण सलाह भरियो आहे ।

किडनीअ जी तपास कंहिं खे कराइण घुरिजे ? किडनीअ जी तकलीफ थियण जो इमकान कडहिं वधीक रहे थो ?

किडनीअ जी तकलीफ कंहिं खे बि थी सघे थी, पर वधीक जोखम उन में हूंदो आहे जंहिं में :

  • जंहिं माण्हूअ में किडनीअ जी बीमारीअ जूं निशानियूं नज़र अचनि ।
  • डायाबिटीज़ (मिठा पेशाब​) जी बिमारी हुजे ।
  • रत जो दाबु कंट्रोल में न हुजे ।
  • कुटुंब में मौरोसी (वरिसे में ) किडनीअ जी बीमारी हुजे, गडोगडु॒ डायबिटीज़ ऐं ब्लड प्रेशर जी तकलीफ हुजे ।
  • तमाक जी आदत​, वधीक चरबीअ वारा ऐं 60 सालनि खां वडी उम्र वारा ।
  • घणे वक़्त ताईं सूर जी दवा वरिती हुजे ।
  • मूत्र मार्ग (पेशाब जे रस्ते) में जन्म खां ई ख़ामी हुजे ।मथिननि जिनि माण्हुनि में किडनीअ जी तकलीफ थियण जो वधीक इमकान हुजे, अहिड़नि माण्हुनि जी नेमाइतो किडनीअ जी चेक​-अप (तपास​) कराइण सां मरीज़ जी सुञाणप (निदान​) जल्दी थी सघंदी आहे ।

किडनीअ जी बीमारिअ जी सुञाणप लाइ डाक्टर बीमारीअ बाबतु तफ़िसील सां पुछा गाछा करे , समूरी तपास करे, ब्लड प्रेशर मापे ऐं पोइ ज़रूरी लगंदड़ तपास जहिड़ो युरीन टेस्ट (पेशाब जी तपास​), रत जी तपास​, रोडियोलोजीकल तपास कराई वेंदी आहे ।

१. पेशाब जी तपास

किडनीअ जे जुदा जुदा बीमारियुनि जी सुञाणप लाइ पेशाब जी जुदा जुदा तपास अहिमियत वारियूं सूचनाऊं डींदी आहे :

A. रवाजी पेशाब जी तपास​

  • घटि खर्च ते सविले नमूने जी पर तमाम अहिमियत वारी तपास ।
  • पेशाब में प्रोटीन किडनीअ जे केतिरियुनि बीमारियुनि में डिसण में ईंदी आहे, पर पेशाब में प्रोटीन जो हुअणु किडनी फेल्यर जहिड़ी गंभीर बीमारिअ जी सभ खां पहिरीं निशानी थी सघे थी ( ऐं दिल जी बिमारीअ जी पिणु) । मिसाल तोर डायाबिटीज़ जे करे किडनी फेल्यर जी सभ खां पहिरीं निशानी पेशाब में प्रोटीन हुअणु, इहा आहे ।
  • पेशाब में रोग जी हाज़िरी मूत्र मार्ग में बीमारी (Urinary tract infection) बुधाऐ थी ।
  • पेशाब में प्रोटीन ऐं गाड़िहनि जुज़नि जी हाज़िरी किडनीअ जी सोज ग्लोमेरुलोन फ्राईटिस जो इशारो डे थी ।
  • पेशाब जी रिपोर्ट द्वारां घणी जाण मिली सघंदी आहे तंहिं हूंदे बि पेशाब जी रिपोर्ट तमाम सुठी अचे त बि किडनीअ जी बिमारी कोन्हे, ईंअ चई न सघिबो । पेशाब जी तपास किडनीअ जी बीमारीअ जे त किड़े निदान लाइ तमाम ज़रूरी आहे ।

B माइक्रो आल्ब्युमिन्युरिया

जडहिं पेशाब में तमाम थोड़े अंदाज़ में प्रोटीन हुजे त उन खे माइक्रो आल्ब्युमिन्युरिया चइबो आहे । पेशाब जी इहा तपास डायाबिटीज़ जे किडनीअ ते असर जी तकिड़ी ऐं वक़्तसर जी सुञाणप (निदान​) लाइ तमाम अहिमियत वारी आहे । इन तबक़े ते योग्य इलाज़ ऐं संभाल सां बिमारी दूर थी सघे थी । पेशाब जी रवाजी तपास में प्रोटीन जी हाज़िरी इन तबके में नज़र न ईंदी आहे ।

C. पेशाब जूं बियूं तपासूं हेठीअं रीति आहिनि :

  • 24 कलाकनि जे पेशाब में प्रोटीन जो अंदाज़
  • पेशाब में जडहिं प्रोटीन वेंदी हुजे तडहिं सजे डींहं में केतिरी प्रोटीन वञे थी, इहो तइ करण लाइ 24 कलाकनि जे कुल पेशाब में प्रोटीन जो अंदाज़ चकासियो वेंदो आहे । इहा चकास तमाम उपयोगी आहे । रोग जी सख़्ताई जाणण लाइ, किडनीअ जे सोज जे अंदाज़ ऐं उन ते इलाज जो असर जाणण लाइ ।
  • पेशाब जी कल्चर ऐं सेन्सिटिविटी जी तपास​
  • इहा तपास अटिकल 48 खां 72 कलाकनि जो वक़्तु वठंदी आहे ऐं पेशाब जे बीमारियुनि लाइ जवाबदार वैकटेरीया जी सुञाणप लाइ ऐं उन लाइ कारिगर दवा जे किस्म जाणण जी तपास (मूत्र जी टी. बी. दवा)
  • टी. बीअ जे जंतुनि जी तपास (मुत्र मार्ग जी टी. बीअ जी सुञाणप​) (निदान) लाइ ।

२. रत जी तपास

पकी सुञाणप (निदान​) ऐं किडनीअ जूं जुदा जुदा तकिलिफूं जाणण लाइ रत जी तपास तमाम ज़रूरी ऐं अहिमियत वारी आहे ।

किडनीअ जे कमु करण जी शक्ति जाणणु लाइ ऐं रीनल फेल्यर तय करण लाइ रत जी क्रीअेटीनिन जी तपास कराइबी आहे ।

  • क्रिअेटीन ऐं यूरिया
  • हीअ तपास किडनीअ जी कमु करण जी शक्तीअ बाबतु जाणु डिअे थी । युरिया ऐं क्रिअेटीनिन इहो शरीर मां किडनीअ द्वारां साफ कयो वेंदड़ कचरो (ग़ैर ज़रूरी इख़राजी शयूं ) आहे । जडहिं किडनीअ जी कमु करण जी शक्ति घटिजंदी आहे, तडहिं रत में क्रिअेटीनिन ऐं यूरिया जो अंदाज़ वधंदो आहे , रत में क्रिअेटीनिन जो रवाजी अंदाज़ 0.9 खां १1.4 मि.ग्रा. 1% ऐं यूरिया जो रवाज़ी अंदाज़ 20 खां 40 मि.ग्रा. % हूंदो आहे । ब​ई किडनियूं जीअं वधीक ख़राब थियनि तीअं रत में यूरिया ऐं क्रिअेटीनिन जो अंदाज़ पिणु वधंदो वेंदो आहे ।
  • हिमोग्लोबिन जो अंदाज़
  • रत जे गाड़िहनि जुज़नि में हिमोग्लोबिन हूंदी आहे ऐं तंदुरुस्त किडनी रत जा गाड़िहा जुज़ा ठाहिण में अहिमियत जो पार्ट अदा करे थी । रत जी तपास में जेकडहिं हिमोग्लोबिन घटि हुजे, त उन खे एनिमिया चइजे थो । एनिमिया किडनी फेल्यर जी आम ऐं अहिमियत वारी निशानी आहे जेतोणीक बियनि बीमारियुनि में पिणु एनिमिया अक्सर मालूम थींदी आहे , याने एनिमिया हमेशह किडनीअ जी बीमारीअ जी ख़ास तपास न आहे, याने एनिमिया हुजण सां किडनीअ जी बिमारी आहे, इहो सही न आहे ।
  • रत जूं बियूं तपासूं
  • किडनीअ जे जुदा जुदा बीमारियुनि जे तपास लाइ रत जे बियनि तपासुनि में प्रोटीन , कोलेस्ट्रोल​, सोडियम​, पोटेशियम​, क्लोराइड​, ग्लूकोज़, बायकार्बोनेट​, केल्शियम​, फास्फोरस ए.एस​.ओ.टाईटर , काम्पलीमेन्ट वग़ैरह जो समावेश थिअे थो । किडनीअ जे बीमारियुनि जे तमाम अहिमियत वारियुनि तपासुनि में पेशाब जी तपास , क्रीअेटीनिन ऐं सोनोग्राफीअ जी तपास आहे ।

3. रेडियोलोजिकल तपास​

किडनीअ जी सोनोग्राफी

हिअ बिल्कुल सविली, तकिड़ी ऐं सलामत तपास आहे जेका किडनीअ जे क़द​, बनावत ऐं जाइ ऐं मूत्र मार्ग में रूकावट​, पथिरी या गंढ बाबत ज़रूरी जाण डिअे थी । घणे भाङे क्रोनिक किडनी फेल्यर जे मरीज़नि में सोनोग्राफीअ में बई किडनियूं सुसियल नज़र ईंदियूं आहिनि ।

पेट जो अेक्स - रे

हीअ तपास ख़ास करे पथिरीअ जी तपास लाइ कराई वेंदी आहे ।

इन्ट्रावेनस यूरोग्राफी (आइ.वी.यु.)

आइ. वी.यु. खे इन्ट्रावेनस पोइलोग्राफी (आइ.वी.पी.) पिणु चइबो आहे । हिअ हिक ख़ास किस्म जी अेक्स - रे जी तपास आहे । हिन तपास में अेक्स - रे में डिसण में अचे, अहिड़ी ख़ास क़िस्म जी आयोडिन वारी दवा जी इंजेक्शन हणी कुछ​-कुछ वक़्त जी विथीअ ते पेट जा अेक्स - रे वरिता वेंदा आहिनि । इन पेट जे अेक्स​- रे में दवा किडनीअ मां इख़िराज थी मूत्र मार्ग ज़रिये मसाने में वेंदी नज़र ईंदी आहे । आइ.वी.यु. किडनीअ जे कमु करण जी शक्ति ऐं मूत्र मार्ग जी रचना बाबत जाण डींदी आहे । इहा तपास ख़ास करे किडनीअ जी पथिरी , मूत्र मार्ग में रूकावट ऐं गंढ जहिड़ियनि बीमारियुनि जी तपास लाइ कई वेंदी आहे । जडहिं किडनी घटि कमु कंदी आहे, तडहिं हीअ तपास कारिगर न थींदी आहे । आइ.वी.यु. जी दवा कमज़ोर किडनीअ खे नुक़सान करे सघे थी । गर्भावस्था दरम्यान अेक्स - रे जी तपास नुक़सानकार हुअण सबबु न कई वेंदी आहे । अल्ट्रा साउन्ड ऐं सीटी स्केन जी मौज़ूदगीअ करे हीअ तपास हाणे अक्सर घटि कई वेंदी आहे । किडनीअ जी सोनोग्राफीअ जी तपास किडनीअ जो क़दु, शिकल ऐं जगह जाचण जो सविलो ऐं सलामत रस्तो आहे ।

वोईडिंग सीस्टो यूरेथ्रोग्राम (वी. सी.यु.जी.)

शुरूआत में हिन तपास खे वोईडिंग सीस्टो यूरेथ्रोग्राम (वीसीयुजी) चयो वेंदो हो । हीअ तपास ख़ास करे नंढनि बारनि में पेशाब में रसी या विचिरंदड़ मरिज़ जी तपास लाइ काराइती आहे । हिन क़िस्म जे ख़ास अेक्स​- रे टेस्ट में पेशाब जी गोथिरी (मसाने ) में कोन्ट्रास्ट मीडियम सां केथेटर ज़रीये भरियो वेंदो आहे । जडहिं पेशाब जी गोथिरी भरिजी वेंदी आहे तंहिं खां पोइ मरीज़ खे पेशाब करण लाइ चयो वेंदो आहे ऐं उन दरिम्यान अेक्स​- रे वरितो वेंदो आहे । कुझ वक़्त जी विथीअ में पेशाब जी गोथिरी (मसानो) ऐं मूत्र मार्ग जी बाहिरीं लीक डिसण में ईंदी आहे । हिन तपास में वेसीकोयूरेट्रल रीफिलक्स याने पेशाब वापस पेशाब वाहिनीअ खां मथे किडनियुनि ताईं वेंदो डिसी सघिजे ऐं पेशाब मार्ग या मसाने में को बि जोड़िजकी (Structural)नुक़्स हुजे ते उन जी जाण पइजी सघे ।

बियूं रेडियोलाजिकल तपासूं

किडनीअ जे किन ख़ास क़िस्म जे बीमारियुनि जी तपास (निदान​) लाइ कमु ईंदड़ ख़ास तपासुनि में रीनल डोपलर​, रेडियो न्यूकलीयर रिट्रोग्रेड पाइलोग्राफी वगै़रह जो समावेश थिऐ थो ।

बियूं ख़ास तपासूं

किडनी बायोप्सी, सिस्टोस्कोपी ऐं यूरोडाइनेमिक्स जहिड़ियूं ख़ास क़िस्म जूं तपासूं केतिरियुनि बीमारियुनि जी ख़ास तपास (निदान​) लाइ ज़रूरी आहिनि ।

किडनी बायोप्सी

किडनीअ जे कुझ बीमारियुनि जे कारणनि जी पकी तपास लाइ किडनी बायोप्सी तपास लाइ किडनी बायोप्सी तमाम अहिमियत वारी तपास आहे । किडनीअ जे केतिरियुनि बीमारियुनि जे सही निदान लाइ किडनी बायोप्सी कराइणु ज़रूरी आहे ।

किडनी बायोप्सी छा आहे ?

किडनीअ जे कुझ बीमारियुनि जो ख़ास कारण गोल्हण लाई सुईअ जी मदद सां किडनीअ मां धागे जेतिरो सन्हो टुकर कढी उन ते कंदड़ ख़ास क़िस्म जी हिस्टोपेथालाजीअ जी तपास खे किडनी बायोप्सी चइजे थो ।

किडनी बायोप्सीअ जी ज़रूरत कडहिं पवंदी आहे ?

किडनीअ जे कुझ बीमारियुनि में जंहिं में पेशाब में प्रोटीन वेंदी हुजे या किडनी घटि कमु कंदी हुजे तडहिं केतिराई दफ़ा इन्हनि बीमारियुनि थियण जे कारणनि जो ख़ास निदान बी तपास द्वारां मुमकिन न थींदो आहे अहिड़नि क़िस्मनि जे किडनीअ जे बीमारियुनि जे निदान (तपास) लाइ किडनी बायोप्सी कराई वेंदी आहे ।

किडनी बायोप्सीअ जी तपास मां छा फाइदो थींदो आहे ?

हिन कपास ज़रीअे किडनीअ जी बीमारीअ जे कारण जी पकी तपास करे सघिबी आहे । इन तपास सां कहिड़ो कजे, इलाज जो केतिरो असर थींदो ऐं आईंदह (मुस्तक़बल​) में किडनीअ जे ख़राब थियण जो केतिरो इमकान आहे, उन बाबत ख़ास जाण मिले थी ।

कहिड़ी कारीगरीअ सां किडनी बायोप्सी करे सघिजे थी ?

रवाजी तरह परक्युटेनियस नीडल बायोप्सी क​ई वेंदी आहे, जंहिं में ख़ास सुई (Biopsy Needle) चमड़ीअ मां लघंदी किडनीअ ताईं वेंदी आहे ऐं बी टेकनीक खे ओपन बायोप्सी चइबो आहे । जंहिं में सर्जरी करिणी पवे ऐं इन् पद्वतिअ सां कडहिं ई बायोप्सी क​ई वेंदी आहे ।

किडनी बायोप्सी कहिड़े नमूने कई वेंदी आहे ?

किडनीअ जी बायोप्सी सन्ही सुईअ ज़रिये बेहोश करण खां सवाइ थींदड़ पीड़ा (सूर​) खां सवाइ जी तपास आहे ।

  • किडनी बायोप्सी लाइ मरीज़ खे इस्पताल में दाखिल कयो वेंदो आहे ऐं हुन जी रज़ामंदी वरिती वेंदी आहे ।
  • रत जो दाबु ऐं रत जो जमी वञण जी प्रक्रिया बाक़ाइदे हुजे, इहो हिन तपास जी सलामतीअ लाइ ज़रूरी आहे ।
  • रत खे छिड़ो करण जी दवा (अेस्पिरिन​) बायोप्सी कराइणी हुजे, उन खां ब हफ्ता अगु में बंद करणु ज़रूरी आहे ।
  • घणे भाङे हिअ तपास मरीज़ खे बेहोश करण खां सवाइ कई वेंदी आहे । जेतोणीक नंढनि बारनि खे ऊंधो, पेट जे हेठां विहाणो रखी सुम्हारिबो आहे ।
  • बायोप्सीअ जी मुक़रर जगह सोनोग्राफीअ जी मदद सां तइ कई वेंदी आहे, जेका पुठीअ में पासेरियुनि जे हेठां चेलिह (कमर) जे मुशिकुनि जे पासे में आयल हूंदी आहे ।
  • इन जाइ खे दवा सां साफ करण बइद सूर न थिअे, इन लाइ इन्जेक्शन (बायोप्सी नीडल​) जी मदद सां किडनीअ मां सन्हे धागे जहिड़ा 2-3 टुकरा कढी हिस्टो पेथोलोजी जी तपास लाइ पेथोलोजिस्ट खे मोकिलयो वेंदो आहे ।
  • बायोप्सीअ खां पोइ मरीज़ खे बिस्तरे में आराम करण जी सलाह डिनी वेंदी आहे ऐं घणो करे बिए-डींहुं मोकल डिनी वेंदी आहे ।
  • जितां सुई विझी बायोप्सी कई हुजे , उन जगह ते प्रेशर करण जी सलाह डिनी वेंदी आहे जींअ उतां रतु न वहे ।
  • किडनी बायोप्सी खां पोइ 2-4 हफ्तनि ताईं महिनत वारो कमु न करणु ऐं वज़नु न खणण जी सलाह डिनी वेंदी आहे ।
  • छा किडनी बायोप्सी जोखाइती थी सघे थी ?
  • किडनीअ जी तपास फक़ति कैंसर जे निदान लाइ ई कई वेंदी आहे, इहा मञिता ग़लत आहे । बी कंहिं बि सर्जरीअ वांगुर किडनी बायोप्सीअ खां पोइ कुझ मरीज़नि में जोखम थी सघे थो । हल्को सूर​, पेशाब में गाड़हाण हिकु ब दफ़ा ग़ैर रवाज़ी न आहे ऐं उहो पंहिजो पाणे ही ठीक थी वेंदो आहे पर जेकडहिं रतु जो वहणु बंद न थि ऐ तडहिं रतु चढ़हाइणु ज़रूरी बणिजे थो ऐं विरले कंहिं मरीज़ में किडनी कढाइण ज़रूरी बणिजंदो आहे ।
  • कंहिं कंहिं वक़्तु बायोप्सीअ में मिलियल टिश्यू काफी न हुअण सबब (20 मां 1 में ) वरी बायोप्सी जी ज़रूरत पवंदी आहे ।

स्रोत : किडनी एजुकेशन

2.90196078431
गडु समालोचना

पंहिंजो सुझाउ डियो

Enter the word
Back to top