होम / सेहत / बिमारी / पहिरियोसुखुनिरोगी॒काया (सेहत)
वंडो

पहिरियोसुखुनिरोगी॒काया (सेहत)

हिन भाग में निरोगी॒काया जे सुख जे बाबत जानकारी डि॒नियल आहे।

असांमां सभिनी ईहो पहाको बु॒धोहूंदोत "पहिरियोसुखुनिरोगी॒काया" इन्ही अरीतअग्रेंज़ीअ में बिचवणीआहेत“Health is wealth”

सुठीकायाई असांजो धन

जंहिंजोमतलब आहेत सुठीकायाई असांजो धन आहे। इहेफकति चवणीयूं नथी करे सच्चाइयूं आहिनि छो त काया में जड॒हिं मामूली तकलीफ हूदी आहे तअसांजो मनु कंहिं बि कम में न लगं॒दो आहे ऐं सुठीअमें सुठी शैबि असांखे कंहिबि किस्म जो आनंदु नडीं॒दी आहे असां कंहिं सेवा करण लायक बि नरही सघंदा आहियूं। कुल मिलाए इहो चई सघजे थो त बिना स्वास्थ काया जेअसां जेकहिं बि उद्देशय जी पूर्ति असंभव थींदी आहे ईश्वरजो डि॒नल अहिड़ी सुठीअ शै ज ध्यान रखण असांजो फर्जुआहे। अचो कुछ अहिड़ियूं आदतूं ऐं गुण उत्पन्नि कयूं जिनिसां असांजी काया निरोगी॒ ऐं खुशहाल बणीरहे।

मुख्य सलाहूं

कुछ मुख्य सलाहूं हिन रिति आहिनि”:

  1. असांखे सुभुअ जो प्रभात वेले (सुरजजेउभरणिखांअगु॒) उथणिख पे ऐंरातजोस वेल सुम्हणु खपे।
  2. सुभुअ जो उथंदेई ऊषा-पान करणु खपे इन्हींअ जोमतल बि आहेत घटिमेंघटि ब॒गिलास पाणींअ जा पियणु खपनि।
  3. इन्ही अखां पोइ फ्रेश थी करे कुछु न कुछु वर्जिश करण घुरिजे छोत रात जो सुम्हण वक़्त असांजो रतु ऐं शरीर जा बि॒या उजि बाज॒मी वेंदा आहिनि ऐं इन्हनि खे सामान्य बणायण वास्ते वर्जिश ही कम ईंदी आहे।
  4. वर्जिश जो हिकु तमामु सुठो नमूनो सुभुअजी सैर बि थींदी आहे। पंहिंजी शक्तिअ अनुसार घुमी अचणु खपे।व्यस्तताजे हलंदे रोज़ न घुमी सघण जी हालतमें हफ्ते में ट्रे या चार डीं॒ह बि घुमी सघजे थो। तड॒हिं बि लाभु मिली सघंदो आहे।
  5. हमेशा खुश रहण जी कोशिश कजे इन्हीअ लाई ज़रूरी आहे त असांजो सो चुसकरात्मक रहेज हिंखे अग्रेंजीअ भाषा में Positive चइबो आहे।कड॒हिं बि नकरात्मक सोच जा नतीजा सुठान थींदा आहिनि।
  6. वड॒नि वड॒नि विद्वाननि ऐं डॉक्टरनि जो इहो चवणु आहे त जड॒हिं बुख लगे॒ तड॒हिं ई कुछ खाईण घुरिजे।इहो बिच इबो आहेत असांखे पाणी उञ लग॒ण खां अग॒ में ई पियणु खपे।
  7. खाधो खाइण में साइ निभाजि॒युनि ऐं सलाद सांगडो॒-गड॒फलनि जो इस्तेमाल वधिमें वधि करण घुरिजे। इहो बि ध्यान रख जे त मौसमी (मुंदजूं) भाजि॒युनि खे फलनिजो इस्तेमाल घणी अमात्रा में थिये। समय ते पहिंजे शरीर जो चेकअप ज़रूर कराइजे ऐं डॉक्टर जी राय मूजिब परहेज़ कजे ऐं इलाजु कराइजे।
  8. दवाउनि खे वठणि में लापरवाही भुलजी बि न कजे।
  9. असांखेपहिंजेखान​-पानमेंसमयजोपाबंदीअपासेध्यानडि॒यणखपेछोतखाइण​- पियणमेंलागर्जीअजोअसांखेस्वास्थयतेउबतो (विपरीत ) प्रभावपवंदोआहे।
  10. पहिंजी कुछ हॉबी (शौंक) रखणु खपे जहिंसा मन प्रजन्नु (खुश​) हंदो आहे।मन जी प्रसन्नता जो सुठी सेहत सां सिधो नातो थींदो आहे।
  11. कुछ वक़्त ध्यान में बिर हणु घुरिजे।
  12. असां खे पहिंजो कुछ वक़्त सेवाकार्य निवास्ते बि कढणु घुरिजे इन्हीं असांन फकत असांजो सुठो वक़्त गुज़िरंदो आहे गडो॒-गडु॒ समाज में नेकी बि मिलंदी आहे ऐं पर लोक जो सुधारो बि थींदो आहे।इन्हनि सभिनी सां असांजी सेहत ते सुठो असरु पवंदो आहे ऐं असांजी सेहत सुठी बणी रहंदी आहे।
  13. सेवा कार्यनि जहिड़ी सुठी आदत सां असांजी सेहत त सुठी रहंदी गडो॒-गडु॒ बुढापे जो वक़्तु बि स्वाभिमान ऐं खुशी असां गुजिरंदो।
  14. जेतिरे कदुर थी सघे बा॒हिरियों, मुख्य रूप सां होटलिनि ऐं ढाब॒नि जो भोजन न करणु खपे।
  15. मिर्च- मसाल नि ऐं तेल जो घटिमेंघटि इतेमाल करण घुरिजे।
  16. कंहिं बि क़िस्म जिन शो -पत्तो न करण घुरिजे। गुटकनि ऐं शराब वगै़रह जे नशेसां तनु-मनु ऐं धनु ट्रेई बर्बाद थींदा आहिनि।

अचोत इन्हनि सलाहु नि तेहलीका या खे स्वस्थऐं सुहिंणो बणाये रखण जो संकल्पुकयूं।

स्त्रोत: श्रीमतीरेणूसूर्यवंशी, w/o डॉक्टररतनसूर्यवंशी, मानसरोवरकालोनी, ग्वालियररोड , दतिया -9329823741

3.0
गडु समालोचना

पंहिंजो सुझाउ डियो

Enter the word
Back to top